मधुमेह रोगियों को कीवी खाने से मिलते हैं कई फायदे, अभी करें शामिल

Picture credit : kfoods.com

Picture credit : kfoods.com

अगर आपको टाइप 2 डायबिटीज़ की बीमारी है तो आपको ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में पता होना चाहिए जो आपके ब्‍लड शुगर लेवल पर असर डालते हैं।

दुर्भाग्‍यवश, ऐसे खाद्य पदार्थों की लिस्‍ट बहुत लंबी है जिनका नकारात्‍मक असर डायबिटीज़ के मरीज़ों पर पड़ता है। इसमें कुकीज़, केक, कैंडी और सोडा ड्रिंक शामिल है।

इन चीज़ों में शुगर की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है जोकि मधुमेह रोगियों को नुकसान पहुंचा सकती हैं। इनका सेवन करने पर मधुमेह रोगियों के शरीर में ब्‍लड शुगर का स्‍तर काफी बढ़ सकता है।

इस वजह से डायबिटीज़ को कंट्रोल करने में डाइट अहम भूमिका निभाती है। अगर आप मधुमेह से संबंधित समस्‍याओं से बचना चाहते हैं तो ऐसे खाद्य पदार्थों से दूर रहें।

सारी शुगर नहीं होती बुरी

संतुलित आहार लेने से ब्‍लड ग्‍लूकोज़ लेवल संतुलित रहता है और नियंत्रण में रहता है। इस वजह से डायबिटीज़ के मरीज़ों को ऐसी चीज़ें खानी चाहिए जिनमें शुगर, नमक और वसा की मात्रा कम हो।

चूंकि, फलों का स्‍वाद मीठा होता है इसलिए इसका मतलब ये नहीं है कि इनमें शुगर है और डायबिटीज़ के मरीज़ इसे नहीं खा सकते हैं। ये सच है कि फलों में शुगर होता है लेकिन इनमें पोषक तत्‍व भी भरपूर मात्रा में होते हैं।

Picture credit : nutrition-for-diabetes.com

Picture credit : nutrition-for-diabetes.com

कीवी है बेहतर विकल्‍प

कीवी जैसे फलों में सिंपल शुगर होता है जिसे फ्रूक्‍टोज़ के नाम से जाना जाता है। फ्रूक्‍टोज़ रिफाइंड शुगर जैसा होता है जिसे शरीर आसानी से पचा लेता है। ये रक्‍त वाहिकाओं में जल्‍दी घुस जाता है लेकिन रिफाइंड शुगर की तरह ये चॉकलेट या सोडा में नहीं पाया जाता है। फ्रूक्‍टोज़ धीमी गति से रिलीज़ होता है और ये डायबिटीज़ के मरीज़ों में बहुत अहम माना जाता है।

धीमी गति से रिलीज़ करने का मतलब है कि आपका शरीर फ्रूक्‍टोज़ का प्रयोग इसके वास्‍तविक रूप में करता है। इसे ग्‍लूकोज़ के रूप में बदलता है। इस बदलाव की प्रक्रिया में इन शुगर का स्राव कोशिकाओं और मेटाबोलिज्‍म में धीमा हो जाता है। इस तरह आपका ब्‍लड शुगर लेवल नहीं बए़ता है और घटता भी नहीं है। इसलिए आपको ऐसे खाद्य पदार्थ खाने चाहिए जिनमें रिफाइंड शुगर हो।

डायबिटीज़ के मरीज़ों को कीवी के अन्‍य फायदे भी मिलते हैं जैसे कि इसमें इनोसिटोल नामक कार्बोहाइड्रेट होता है जोकि इंसुलिन लेवल को नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है।

कीवी कैसे करता है ब्‍लड शुगर कों कंट्रोल

चूंकि, अधिकतर फलों में सिंपल शुगर होता है इसलिए इनसे ब्‍लड शुगर बढ़ सकता है। हालांकि, फलों में फाइबर ज्‍यादा होता है जैसे कि कीवी उनका असर ब्‍लड शुगर पर नहीं पड़ता है।

कीवी में जीआई कम होता है

जेस्प्रि कीवी में जीआई लेवल 39.2 होता है। इसमें फाइबर की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है और ये शुगर के पाचन को धीमा कर देता है। इसका मतलब है कि शरीर धीरे-धीरे ग्‍लूकोज़ देता है और रक्‍तवाहिकओं में इसे धीरे-धीरे ही रिलीज़ करता है।

एक वैज्ञानिक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि नाश्‍ते के साथ कीवी खाले से रक्‍त वाहिकाओं में शुगर का अवशोषण धीमा हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि कीवी में फाइबर होता है और इसमें पानी की मात्रा भी बहुत ज्‍यादा होती है। खाने पर कीवी में मौजूद फाइबर पानी को आकर्षित करता है। नाश्‍ते के पचने पर ये छोटे-छोटे शुगर में टूट जाता है और जैल के रूप में और भी धीमी गति से स्रावित होता है। परिणामस्‍वरूप, शुगर रक्‍त में कम मात्रा में आती है और एनर्जी धीरे लेकिन संतुलित मात्रा में मिलती है।

इसके अलावा कीवी पाचन तंत्र को दुरुस्‍त करने में भी लाभकारी है। रोज़ इसका सेवन करने से कब्‍ज की समस्‍या में राहत मिलती है।

Picture credit : homenaturalcures.com

Picture credit : homenaturalcures.com

डायबिटीज़ में कीवी के फायदे

  • कीवी शरीर में इंसुलिन की संवेदनशीलता को बेहतर करता है और कोशिकाओं में ग्‍लूकोज़ के अवशोषण में मदद करता है।
  • ये ऑक्‍सीजन डैमेज से डीएनए को बचाता है। इसमें फाइटोन्‍यूट्रिएंट्स होते हैं और ये सुरक्षात्‍मक एंटीऑक्‍सीडेंट प्रदान करता है। फ्लेवेनॉएड्स और कैराटीनॉएड्स युक्‍त कीवी एंटीऑक्‍सीडेंट के रूप में कार्य करता है।
  • कीवी में ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स बहुत कम होता है क्‍योंकि इसमें फ्रूक्‍टोज़ और फाइबर पाया जाता है। इसलिए कीवी ब्‍लड शुगर को संतुलित रखता है।
  • कीवी में पॉलीफिनॉल्‍स और पोटाशियम होता है जोकि ह्रदय और रक्‍त वाहिकाओं की सुरक्षा करता है।
  • कीवी शरीर में फैट को कम करता है और कार्डियोवस्‍कुलर रोग और ब्‍लड क्‍लॉट के खतरे को कम करता है।
  • कीवी में विटामिन सी और ए होता है जोकि हीलिंग प्रक्रिया को तेज करता है और ये आंखों के लिए भी फायदेमंद होता है।

कीवी में मौजूद पोषक तत्‍व

100 ग्राम के कीवी में 1 गाम प्रोटीन, 14.66 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और लगभग ना की मात्रा में कोलेस्‍ट्रॉल होता है। इसमें 0.52 ग्राम फैट होता है। कीवी में प्रचुर मात्रा में विटामिंस और मिनरल्‍स जैसे कि विटामिन ए, विटामिन सी, सोडियम, मैंग्‍नींज़, कॉपर, जिंक, मैग्‍नीशियम, आयरन, पोटाशियम मौजूद होता है।

ये सब चीज़ें मिलकर कीवी को डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए हैल्‍दी फूड बनाती हैं। स्‍वस्‍थ जीवन के लिए सभी को अपने आहार में कीवी को शामिल करना चाहिए।

कीवी के सेवन में इन बातों का रखें ध्‍यान

भले ही कीवी मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद हो लेकिन किसी भी चीज़ का अत्‍यधिक मात्रा में सेवन करने पर नुकसान ही मिलेगा। डॉक्‍टर द्वारा बताई गई मात्रा में ही कीवी का सेवन करना फायदेमंद रहता है। आप एक दिन में दो कीवी खा सकते हैं।

चूंकि, कीवी का स्‍वाद ज्‍यादा अच्‍छा नहीं होता है इसलिए ज्‍यादातर लोग इसे अपने आहार में शामिल नहीं कर पाते हैं। इसमें जरूरी पोषक तत्‍व जैसे फाइबर, विटामिंस आदि मौजूद होते हैं। कीवी को खाने में आपको कोई खास सावधानी नहीं बरतनी है।

बेहतर होगा कि डायबिटीज़ के मरीज़ कीवी को अपने आहार में शामिल करने से पहले अपने चिकित्‍सक या डायटिशियन से सलाह कर लें।

Read source

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *