एक दिन में कितने खजूर खा सकते हैं डायबिटीज़ के मरीज़

Picture credit : express.co.uk

Picture credit : express.co.uk

खजूर एक बहुत बढिया फल है जो एंटीऑक्‍सीडेंट्स और कई पोषक तत्‍वों जैसे आयरन आदि से भरपूर होता है। लेकिन इसमें अन्‍य सूखे मेवों की तुलना में कैलोरी भी बहुत ज्‍यादा होती है और इसी वजह से एकसाथ कई खजूर ना खाने की हिदायत दी जाती है। डायबिटीज़ के मरीज़ों को भी खजूर बिलकुल ना खाने की सलाह दी जाती है लेकिन क्‍या मधुमेह के मरीज़ बिलकुल भी खजूर नहीं खा सकते हैं ?

सेहत विशेषज्ञों की मानें तो रोज़ एक खजूर खा सकते हैं। आप एक दिन में कितने खजूर खा सकते हैं ये आपके ब्‍लड शुगर लेवल पर ज्‍यादा निर्भर करता है। खजूर में शुगर और कैलोरी की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है और इसीलिए इसे डायबिटीज़ के मरीज़ों से दूर रखा जाता है क्‍योंकि इससे उनका ब्‍लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। शरीर में ब्‍लड शुगर के लेवल को इंसुलिन द्वारा नियंत्रित किया जाता है। डायबिटीज़ के मरीज़ अगर खजूर खाते हैं तो इससे उनका ब्‍लड शुगर लेवल बढ़ सकता है।

क्‍या होते हैं खजूर

खजूर को फोनिक्‍स डेक्टिलिफेरस कहा जाता है जोकि पाम परिवार का पुष्‍पीय पौधा है। ये फल डेट पाम के पेड़ों पर गुच्‍छे में उगता है। ये पेड़ मध्‍य पूर्वी क्षेत्रों में ज्‍यादा मिलता है। खजूर उगाने में थोड़े मुश्किल होते हैं और इसके लिए पानी की भी बहुत जरूरत पड़ती है।

क्‍या डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए खजूर सुरक्षित है

अगर आप किसी भी डायबिटीज़ के मरीज़ से खजूर के बारे में पूछेंगें तो वो आपको ना ही कहेगा। विशेषज्ञों की मानें तो खजूर में फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है और इस वजह से डायबिटीज़ के मरीज़ भी इसे खा सकते हैं। डायबिटीज़ के मरीज़ एक दिन में 2 से 3 खजूर खा सकते हैं लेकिन इसके साथ उन्‍हें एक्‍सरसाइज़ भी करनी पड़ेगी।

सामान्‍य तौर पर डायबिटीज़ के मरीज़ को नियमित तौर पर डाइट में शुगर से दस प्रतिशत कैलोरी की जरूरत होती है। खजूर के साथ अन्‍य शुगरयुक्‍त या मीठी चीज़ें खाने से आपका ब्‍लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। अगर आप इसके साथ ही रोज़ 30 मिनट एक्‍सरसाइज़ भी करते हैं तो आपको खजूर में मौजूद शुगर उतना ज्‍यादा नुकसान नहीं पहुंचाएगी।

Picture credit : uuregarte.ch

Picture credit : uuregarte.ch

पोषक तत्‍व

खजूर में मौजूद पोषक तत्‍व आसानी से पच जाते हैं। प्रत्‍येक खजूर में डायटरी फाइबर, आयरन, पेाटाशियम, विटामिन बी, बी6, ए और के, टैनिन, कॉपर, मैग्‍नीशियम, मैंगनीज़, नियासिन, पैंटोथेनिक एसिड, राइबोफ्लेविन होता है। ये सभी मेटाबॉलिज्‍म को दुरुस्‍त करते हैं।

डायबिटीज़ में खजूर : क्‍या कहती है साइंस

खजूर में जीआई लेवल और डायबिटीज़ के मरीज़ों पर इसके प्रभाव को लेकर कई रिसर्च हुई हैं। साल 2011 में हुई एक रिसर्च की मानें तो खजूर के पांच प्रकार होते हैं और डायबिटीज़ के मरीज़ों के ब्‍लड शुगर पर इसका प्रभाव इसके प्रकार पर भी निर्भर करता है। अगर डायबिटीज़ के मरीज़ खजूर में कुछ बदलाव कर संतुलित आहार के साथ इसका सेवन करते हैं तो इससे उन्‍हें फायदा मिल सकता है।

खालस नामक खजूर को योगर्ट के साथ या इसके बिना खाने पर इसमें जीआई इंडेक्‍स कम पाया गया जोकि डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए फायदेमंद होता है।

खजूर में शुगर

कई लोग खजूर को सेहत के लिए बहुत फायदेमंद मानते हैं। खजूर में कोलेस्‍ट्रॉल नहीं होता और इसमें फैट भी बहुत कम पाया जाता है साथ ही इससे शरीर को कई पोषक तत्‍व मिल जाते हैं। इन फायदों के अलावा खजूर में शुगर की मात्रा भी बहुत ज्‍यादा होती है। एक कप खजूर में 31 ग्राम फ्रूक्‍टोज़ होता है।

खजूर में 80 प्रतिशत शुगर होती है। अन्‍य फलों की तुलना में शुगर की ये मात्रा बहुत ज्‍यादा है। हालांकि, खजूर में मौजूद शुगर का मरीजों के ब्‍लड शुगर लेवल पर कोई असर नहीं पड़ता है। इस तथ्‍य को साबित को करने के लिए शोधकर्ताओं ने एक महीने तक एक ग्रुप को रोज़ खजूर खाने के लिए कहा। महीने के अंत में पाया गया कि इन लोगों का वजन और ब्‍लड शुगर स्‍तर संतुलित था और इनमें ट्राइग्लिसराइड और एंटीऑक्‍सीडेंट लेवल भी बेहतर हुआ था।

Picture credit : healthynakeddates.com

Picture credit : healthynakeddates.com

कितने खजूर खा सकते हैं

1 कप खजूर में 415 कैलोरी और लगभग 95 ग्राम शुगर होती है साथ ही इसमें 110 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। खजूर खाने से आपकी रोज़ाना की फाइबर की आधी जरूरत पूरी हो जाती है। साथ ही इससे 10 प्रतिशत मैग्‍नीशियम, पोटाशियम, मैंगनीज़, कॉपर और विटामिन बी 6 होता है।

खजूर खाने के फायदे

डायबिटीज़ के मरीज़ों को खजूर खाने से कई स्‍वास्‍थ्‍यवर्द्धक लाभ हो सकते हैं लेकिन उन्‍हें खजूर का सेवन उसमें थोड़ा बदलाव अर्थात् मॉडरेशन करके ही करना है।

चक्‍कर आना

डायबिटीज़ के मरीज़ों को कार्बोहाइड्रेट का सेवन नियंत्रित मात्रा में ही करने की सलाह दी जाती है। कार्ब का सेवन कम करने से एनर्जी लेवल कम हो जाता है। खजूर में फ्रूक्‍टोज़, ग्‍लूकोज़ और सूक्रोज़ के रूप में प्राकृतिक शुगर होती है। अगर आप हाइपोग्‍लाइसेमिक हैं तो आप खजूरर खाकर अपने ब्‍लड शुगर लेवल को संतुलित कर सकते हैं।

Picture credit : dailysabah.com

Picture credit : dailysabah.com

इंसुलिन उत्‍पादन करे बेहतर

खजूर में फैट और कोलेस्‍ट्रॉल बिलकुल नहीं होता है। इसमें जिंक, पोटाशियम, कैल्शियम, फास्‍फोरस और मैग्‍नीशियम विटामिंस और मिनरल्‍स के रूप में होता है जोकि शरीर को पोषण प्रदान करता है। जिंक से इंसुलिन का उत्‍पादन बेहतर होता है जबकि मैग्‍नीशियम ब्‍लड शुगर नियंत्रित करता है।

पाचन रखे दुरुस्‍त

खजूर में मौजूद फाइबर से पाचन तंत्र सही तरीके से काम करता है। 100 ग्राम खजूर में डायटरी फाइबर को आठ ग्राम होता है। खजूर में बीटा डी ग्‍लूकन नामक घुलनशील फाइबर भी होता है जोकि शरीर की कोशिकाओं द्वारा कोलेस्‍ट्रॉल को अवशोषण को कम करता है।

ब्‍लड शुगर रखे नियंत्रित

हाई ग्‍लाइसेमिक फूड से बड़ी तेजी से ब्‍लड शुगर का लेवल बढ़ता है। खजूर में शुगर की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है लेकिन साथ ही इसमें फाइबर भी बहुत होता है जोकि इंसुलिन के रिलीज़ रेट को कम करता है। खजूर में मौजूद जीआई इंडेक्‍स इसके प्रकार पर भी निर्भर करता है इसलिए ऐसे खजूर का सेवन करें जिसका जीआई इंडेक्‍स लो या मीडियम हो।

आंखों की कमजोरी करे दूर

विटामिन ए से डायबिटीज़ के मरीज़ों में नज़र की कमजोरी और आंखों से संबंधित रोगों की समस्‍या दूर होती है। ये मैकुलर डिजेनरेशन से भी बचाव करता है।

मेटाबॉलिज्‍म करे ठीक

खजूर में विटामिन बी3 होता है जोकि डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। विटामिन बी 6 मेटाबॉलिज्‍म को दुरुस्‍त करता है।

मधुमेह के मरीज़ खजूर में थोड़ा बदलाव कर या इसे मॉडरेट कर इसका लाभ उठा सकते हैं।

Read source

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *