जानिए क्‍या होते हैं बच्‍चों में टाइप 1 डायबिटीज़ के लक्षण

Picture credit : kinderling.com.au

Picture credit : kinderling.com.au

मधुमेह के मामले में भारत दुनियाभर के देशों में तीसरे नंबर पर है, इस देश में यहां तक कि बच्‍चे भी इस खतरनाक बीमारी से ग्रस्‍त हैं। अगर आपके परिवार में किसी को भी मधुमेह नहीं रहा है और आपको ये बीमारी हो जाती है तो ये काफी आश्‍चर्य की बात होती है।

आप जानते ही होंगें कि डायबिटीज़ के दो प्रकार होते हैं – एक टाइप 1 डायबिटीज़ और दूसरा टाइप 2 डायबिटीज़। टाइप 1 डायबिटीज़ बच्‍चों में होता है जिसमें उनके शरीर में पैंक्रियाज़ लंबे समय तक इंसुलिन नहीं बना पाता है और शरीर में प्रभावी तरीके से शुगर का इस्‍तेमाल भी नहीं हो पाता है। वहीं टाइप 2 डायबिटीज़ उम्रदराज लोगों की बीमारी है। इसमें शरीर में पर्याप्‍त मात्रा  में इंसुलिन नहीं बन पाता है।

अगर आपको अपने बच्‍चे में टाइप 1 डायबिटीज़ के कुछ लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो इसका मतलब है कि आपका बच्‍चा इस बीमारी की चपेट में आ चुका है आइए जानते हैं बच्‍चों में टाइप 1 डायबिटीज़ के लक्षण।

Picture credit : bharatsamvad.com

Picture credit : bharatsamvad.com

बार-बार प्‍यास लगना

डायबिटीज़ में लगातार प्‍यास लगती है। बॉडी के टिश्‍यूज़ से फ्लूइड निकल जाता है जिससे ब्‍लड ग्‍लूकोज़ के स्‍तर में असंतुलन पैदा होता है। आपके बच्‍चे को ऐसे में सामान्‍य से ज्‍यादा कोल्‍ड ड्रिंक या मीठा खाने का मन कर सकता है।

बार-बार मूत्र लना

ज्‍यादा पानी या तरल पदार्थ पीने की वजह से बार-बार मूत्र लगना सामान्‍य है। अगर आपका बच्‍चा बार-बार वॉशरूम जाता है और आपको इसमें कुछ अजीब लग रहा है तो इस बात को नज़रअंदाज़ बिलकुल ना करें। ये हाई शुगर लेवल का लक्षण हो सकता है।

वजन में कमी

टाइप 1 डायबिटीज़ में शरीर इंसुलिन बनाना बंद कर देता है और शरीर में एनर्जी बनने के लिए शुगर का अवशोषण रूक जाता है जिसके कारण मसल मास और फैट घटने लगता है। अगर आपके बच्‍चे का अचानक से वजन घट रहा है तो ये भी टाइप 1 डायबिटीज़ का अन्‍य लक्षण हो सकता है।

एनर्जी की कमी

अगर बच्‍चे को ज्‍यादा थकान होती है तो इसका मतलब है कि उसके शरीर में एनर्जी के लिए रक्‍तकोशिकाओं में शुगर ग्‍लूकोज़ में तब्‍दील नहीं हो पा रही है

ज्‍यादा भूख लगना

लो इंसुलिन लेवल के कारण एनर्जी की कमी होती है और ऐसे में भूख लगना सामान्‍य बात है। बच्‍चे को बहुत ज्‍यादा भूख लगना भी डायबिटीक कीटोएसिडोसिस का सामान्‍य लक्षण है। ये एक स्थिति है जिसमें बच्‍चे में मधुमेह का पता नहीं चलता है। इसमें शरीर ग्‍लूकोज़ बनाने के लिए इंसुलिन का उत्‍पादन बंद कर देता है और इससे फैट घटने लगता है।

यीस्‍ट इंफेक्‍शन   

टाइप 1 डायबिटीज़ से ग्रस्‍त लड़कियों में यीस्‍ट इंफेक्‍शन का खतरा ज्‍यादा रहता है। इसकी वजह से ज्‍यादा छोटे बच्‍चों में डायपर रैश हो सकते हैं।

अगर आपके बच्‍चे में ये सब या इनमें से कोई भी लक्षण दिखाई दे रहा है तो इसे नज़रअंदाज़ बिलकुल ना करें। बच्‍चों की सेहत से ज्‍यादा जरूरी पैरेंट्स के लिए और कुछ नहीं होता है। आपकी थोड़ी सी सतर्कता भी आपके बच्‍चे को किसी मुश्किल खतरे से बचा सकती है।

लो ब्‍लड शुगर के लक्षण

Picture credit : cdn.diabetesselfmanagement.com

Picture credit : cdn.diabetesselfmanagement.com

  • ब्‍लड शुगर लेवल के गिरने पर एड्रेनल ग्‍लैंग एपिनेफ्राइन नामक हार्मोन रिलीज़ करते हैं जोकि लिवर को ज्‍यादा ग्‍लूकोज़ बनाने का संकेत देता है। इस जल्‍दी के कारण मरीज़ को बेचैनी महसूस होने लगती है।
  • एकाग्रता की कमी, कंफ्यूज़ और परेशान रहना भी सामान्‍य लक्षणों में से एक हैं।
  • लो ब्‍लड शुगर का असर आपके बोलने पर भी पड़ता है और इसकी वजह से आप चलते या खड़े होते हुए समय सीधे नहीं रह पाते हैं। कुछ मामलों में तो आंखों की रोशनी एकदम से धुंधलाने लगती है।
  • नींद में कमी, रात के समय पसीना आना, नींद में चलने और बेचैन रहने के कारण नोकटर्नल हाइपोग्‍लाइसेमिया हो जाता है। अगर रात को ब्‍लड शुगर लो रहता है तो सुबह उठते समय सिरदर्द भी महसूस होता है।
  • लो ब्‍लड शुगर आपके सेंट्रल नर्वस सिस्‍टम को भी प्रभावित करता है। इसे नियंत्रित करने के लिए यह कैटेकोलामाइंस रिलीज़ करता है। ये केमिकल्‍स ग्‍लूकोज़ के उत्‍पादन को बूस्‍ट करते हैं।
  • चक्‍कर आने पर आपको किसी भी तरह की चोट से बचने के लिए तुरंत लेट जाना चाहिए। ऐसे में लोग अपनी चेतना खो देते हैं।
  • मूड स्विंग्‍स में रोना या गुस्‍सा आना सामान्‍य आत है। ये लो ब्‍लड शुगर के कुछ न्‍यूरोलॉजिकल लक्षण हैं।
  • लो ब्‍लड शुगर में सबसे पहले बहुत ज्‍यादा पसीना आना शुरु होता है। लो ब्‍लड शुगर आपके सेंट्रल नर्वस सिस्‍टम पर असर डालता है जोकि त्‍वचा से जुड़ा होता है और इसी वजह से आपको पसीना आने लगता है।

Read source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami