छुट्टियों के दिनों में कुछ इस तरह रखें डायबिटीज़ को कंट्रोल

HOLIDAY EATING PHOTO

डायबिटीज़ की बीमारी में ए1सी लेवल को नियंत्रित रखना बहुत जरूरी होता है। वहीं छुट्टियों के दिनों में कुकीज़, केक और टेस्‍टी डिशेज़ की बहार सी लग जाती है लेकिन ऐसे में आपके लिए अपने ब्‍लड शुगर के लेवल को नियंत्रित रखकर इन सब चीज़ों का मज़ा लेना किसी चुनौती से कम नहीं है।

हॉलीडे के दिनों में हैल्‍दी मील प्‍लान फॉलो करना वाकई में मुश्किल होता है क्‍योंकि इस दौरान हमारे आसपास खाने के अलावा और कुछ नहीं होता है और खाली बैठे-बैठे भी हमारा ध्‍यान खाने की तरफ ही जाता रहता है। परिवार और दोस्‍तों के साथ इस खास समय को इंजॉय करने के लिए आप अपने मील प्‍लान में कुद बातों का ध्‍यान रख सकते हैं। जी हां, इन छोटी-छोटी बातों को भी ध्‍यान में रखकर आप हर चीज़ का खुलकर मज़ा ले सकते हैं।

तो चलिए जानते हैं कि हॉलीडे के दिनों में किस तरह आप अपने ब्‍लड शुगर को नियंत्रित रख सकते हैं।

प्‍लान करें

किसी भी इवेंट में जाने से पहले ही सोच लें कि वहां जाकर आपको क्‍या खाना है। उन चीज़ों को खाने की कोशिश करें जिनमें लो कैलोरी हो ताकि आपका ब्‍लड शुगर लेवल ना बढ़े जैसे कि सब्जियां और लीन प्रोटीन। डिप्‍स और सॉस में शुगर और कैलोरी छिपी होती है इसलिए इनसे दूर रहें।

मील स्किप ना करें

मील को स्किप करने की वजह से आपके ब्‍लड ग्‍लूकोज़ पर गलत असर पड़ता है। अगर आप हॉलीडे के दिनों में बहुत व्‍यस्‍त हैं तो अपने साथ ग्‍लूकरना शेक या बार जरूर रखें। अपने साथ ऐसी चीज़ों को रखें जो धीमी गति से पचती हों ताकि ब्‍लड शुगर ना बढ़े।

हाइड्रेटेड रहें

diabetes in holidays

पूरे शरीर और स्‍वस्‍थ रहने के लिए हाइड्रेटेड रहना और पानी पीना बहुत जरूरी होता है। एक रिसर्च की मानें तो हम जो कैलोरी का सेवन करते हैं पानी से उसे भी कम किया जा सकता है। ज्‍यादा पानी पीने का संबंध कम कैलोरी के साथ-साथ कम शुगर, नमक और कोलेस्‍ट्रॉल से भी है।

कार्ब का रखें ध्‍यान

कार्बोहाइड्रेट युक्‍त फूड हमारे लिए बेहतरीन पोषणदायक साबित हो सकते हैं। फैट और प्रोटीन की तुलना कार्बोहाइड्रेट का ब्‍लड शुगर पर ज्‍यादा असर पड़ता है। बस, यही वजह है कि आपको अपने लिए कार्ब चुनते समय थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए और अपने लिए लो ग्‍लाइसेमिक फूड ही चुनें। जो कार्बोहाइड्रेट धीरे से पचते हैं वो ब्‍लड शुगर पर ज्‍यादा प्रभाव नहीं डालते हैं।

वहीं दूसरी ओर हाई ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स वाले फूड जल्‍दी से पच जाते हैं और इससे ब्‍लड शुगर तेजी से बढ़ने लगत है। रिफाइंड और प्रोसेस्‍ड कार्बोहाइड्रेट्स का कम सेवन करें और फाइबरयुक्‍त फूड्स जैसे सेब, गाजर, बींस और काजू खाएं।

मात्रा का रखें ध्‍यान

आपको क्‍या खाना है सिर्फ इस बात का ही ध्‍यान नहीं रखना है बल्कि आपको ये बात भी ध्‍यान में रखनी कि किस चीज़ को कितनी मात्रा में खाना है ताकि आपका ब्‍लड ग्‍लूकोज़ नियंत्रण में रहे।

एक कप = मुठ्टीभर

3 आउस = हथेलीभर

1 टेबलस्‍पून = अंगूठे भर

व्‍यायाम

diabetes-

जाहिर सी बात है कि हॉलीडे के दौरान आपको दोस्‍तों या रिश्‍तेदारों के घर भी जाना पड़ेगा और ऐसे में ओवरईटिंग होना भी लाजिमी है। खाने को अगर आप कंट्रोल नहीं कर पा रहे हैं तो बेहतर होगा कि आप एक्‍सरसाइज़ बढ़ा दें। खाने के बाद परिवार या दोस्‍तों के साथ वॉक करने जरूर जाएं।

अगर आप इन छोटी लेकिन काम की बातों का ध्‍यान रखते हैं तो हर हाल में आप डायबिटीज़ के साथ भी स्‍वस्‍थ रह सकते हैं। डायबिटीज़ कोई ऐसी बीमारी नहीं है जिसे ठीक ना किया जा सके। संतुलित आहार और नियमित व्‍यायाम से टाइप 2 डायबिटीज़ को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है।

टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए कुछ डाइट टिप्‍स

  • डायबिटीज़ के मरीज़ों को अपने आहार में ऐसे खाद्यों को चुनना चाहिए जिनमें लो और मीडियम जीआई हो।
  • टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीज़ प्‍लेट मैथेड से अपने लिए संतुलित भोजन तैयार कर सकते हैं। अपनी आधी प्‍लेट में नॉन स्‍टार्च सब्जियों, एक चौथाई स्‍वस्‍थ कार्बोहाइड्रेट और चौथे हिस्‍से में प्रोटीन को जगह दें। रोज़ाना आपको कितना मात्रा में इसका सेवन करना है, इसे एक कागज़ पर लिख लें। एक दिन में आपको 1,550 से 1650 कैलोरी की जरूरत होती है।
  • नीबू पानी, संतरे का जूस और चॉकलेट मिल्‍क आदि ले सकते हैं लेकिन इन्‍हें घर पर ही तैयार करें तो बेहतर होगा।
  • डायबिटीज़ डाइट में फाइबर युक्‍त चीज़ें शामिल करने से रक्‍त शर्करा को बेहतर तरीके से नियंत्रित किया जा सकता है लेकिन किसी भी तरह के नुकसान से बचने के लिए आपको धीरे और सावधानी से इसका प्रयोग करना चाहिए।

Read source

Image source

Image source 2

Image source 3

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *