डायबिटीज़ को कंट्रोल करने के लिए अपनाएं ये ‘डाइट एंड एक्‍सरसाइज़ ट्रिक्‍स’

Diabetes-reverse-naturally

टाइप 2 डायबिटीज़ को कंट्रोल करने के लिए आपको अपने लिए कुछ डाइट और एक्‍सरसाइज़ गोल्‍स बनाने पड़ते हैं। अपनी बीमारी को कंट्रोल करने वाले आपके ये गोल्‍स छोटे और सही तरह से नियोजित होने चाहिए।

एक्‍स्‍पर्ट्स की मानें तो कोई बड़ा बदलाव करने जिसका पालन करने में आपको मुश्किल हो उससे बेहतर है कि आप अपनी डाइट और एक्‍सरसाइज़ में छोटे-छोटे बदलाव करें और अपने लिए सबसे आसान रास्‍ता चुनें।

डायबिटीज़ एक ऐसी बीमारी है जिसे आप अपनी स्‍वस्‍थ जीवनशैली से पूरी तरह से ठीक कर सकते हैं इसलिए अपनी डाइट और एक्‍सरसाइज़ में थोड़ा सा बदलाव लाइए।

तो चलिए जानते हैं डाइट और एक्‍सरसाइज़ से जुड़े ट्रिक्‍स :

अपनी फिजीकल एक्टिविटी का रखें रिकॉर्ड

कई लोगों को पता नहीं होता कि उन्‍हें कितनी एक्‍सरसाइज़ करनी है या उन्‍होंने कितनी एक्‍सरसाइज़ की है। अगर आप इसे नोट करके रखेंगें तो आप आसानी से जान पाएंगें कि आपको एक्‍सरसाइज़ कब और कितनी बढ़ानी है।

अपना लंच खुद बनाएं

diabetes tricks

रेस्‍टोरेंट में खाना और फास्‍टफूड से तौबा कर लें। रेस्‍टोरेंट में आप अपनी जरूरत से ज्‍यादा खा सकते हैं। इसमें बहुत कैलोरी और फैट होता है। एक रिसर्च की मानें तो ज्‍यादा खाने से वजन तेजी से बढ़ता है।

अगर आप अपना लंच खुद बनाएंगें तो आप उसमें रखी गई चीज़ों और उनकी मात्रा का खास ध्‍यान रखेंगें। अगर आपको ये रोज़ करना मुश्किल लगता है तो शुरुआत में सप्‍ताह में दो बार ऐसा जरूर करें।

अपनी दिनचर्या को बदलें

काम पर जाते समय फैट युक्‍त खाने की जगह लो फैट मिल्‍क की एक कप कॉफी और लो फैट ग्रैनोला बार ले सकते हैं।

रेस्‍टोरेंट में रखें इस बात का ध्‍यान

अगर आप किसी रेस्‍टोरेंट में जाते हैं तो वहां अपने लिए डायबिटीज़ फ्रेंडली डिश जैसे कि गिल्‍ड चिकन के साथ सलाद और लो फैट ड्रेसिंग चुनें। बाहर खाने जाना कोई मुश्किल बात नहीं है लेकिन टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए अचानक से रेस्‍टोरेंट में खाना खाने का प्‍लान बनाना बहुत मुश्किल होता है। घर पर तो आप बड़ी आसानी से अपनी डाइट में शुगर और कैलोरी आदि का ख्‍याल रख पाते हैं लेकिन जब बात बाहर खाने की आती है तो आप चिंता में पड़ जाते हैं कि भला बाहर आप अपनी डाइट का ख्‍याल कैसे रखेंगें।

पहले से रिर्जवेशन करवाना अच्‍छा आइडिया है लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है कि आपको रेस्‍टोरेंट पहुंचते ही डिनर मिल जाए। हो सकता है कि उस दिन रेस्‍टोरेंट में बहुत भीड़ हो और आपको इंतज़ार करना पड़ जाए। ऐसी मुश्किल से निपटने के लिए आपको पहले से ही तैयार रहना चाहिए। ब्‍लड शुगर लेवल को लो होने से बचाने के लिए अपने साथ स्‍नैक जरूर रखें ताकि खाना आने में देरी होने पर आप इससे अपना काम चला सकें। आप अपने बैग में किशमिश के साथ कुछ बादाम रख सकते हैं। अगर आप शॉर्ट एक्‍टिंग इंसुलिन लेते हैं तो खाना आने तक इंसुलिन ना लें।

पेडोमीटर का करें इस्‍तेमाल

diabetes-type-2-lifestyle-and-diet-tips

इसे अपनी कलाई पर बांधकर आप जान सकते हैं कि आपने कितनी सैर या वॉक की है। एक बार नोट करने के बाद अपनी वॉक का समय बढ़ाते रहें। अगर आप सप्‍ताह में हर रोज़ 100 कदम चलते हैं तो अगले हफ्ते तक 100 कदम और बढ़ा दें।

च्‍यूंइगम रखें साथ

जब कभी स्‍नैक खाने का मन करे तो च्‍यूंइगम चबा लें। इसका मिंटी टेस्‍ट आपको कई तरह की हानिकारक चीज़ों से दूर रखने में मदद करेगा। ज्‍यादा च्‍यूंइगम रखने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि इसमें शुगर बहुत होता है।

हर हफ्ते कुछ नया करें ट्राई

मौसम के अनुसार मार्केट में फल और सब्जियों की वैरायटी बदलती रहती है। इसके अनुसार आप भी हर सप्‍ताह कुछ नया ट्राई करें। हालांकि, कोई भी नई चीज़ ट्राई करने के बाद अपना ब्‍लड शुगर जरूर टेस्‍ट कर लें, खासकर जब कोई फल खाएं। कुछ चीज़ों का ब्‍लड शुगर पर असर बुरा होता है तो कुठ चीज़ों का सीमित मात्रा में सेवन करना ठीक रहता है।

मैन्‍यू ले जाएं साथ

अगर आप जल्‍दी में नहीं होंगें तो अपने लिए सबसे हैल्‍दी चीज़ को चुन पाएंगें। अगर आपका कोई पसंदीदा रेस्‍टोरेंट है तो अपने पास उसका मैन्‍यू पहले ही रखें और पहले ही देख लें कि रेस्‍टोरेंट जाकर आपको क्‍या खाना है।

इस तरह खाएं

एक ही बार में ज्‍यादा खाने से बेहतर है कि आप थोड़ी-थोड़ी देर में स्‍मॉल मील लें।

2-3 घंटे में ब्‍लड शुगर करें चैक

ग्‍लूकोज़ मॉनिटर से अपना ब्‍लड शुगर चैक करते रहें। खाना खाने के हर 2-3 घंटे बाद आपको ऐसा करना है ताकि आपको पता चल सके कि किस खाने या फूड की वजह से आपका ब्‍लड शुगर तेजी से बढ़ा है।

Read source

Image source

Image source 2

Image source 3

Image source 4

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *