त्‍योहारी सीज़न में मिठाई खाने से पहले मधुमेह के मरीज़ जान लें ये बातें

festive

भारत में हर समय कोई ना कोई त्‍योहार रहता ही है। कभी नवरात्र के पर्व हैं तो कभी शिवरात्रि या जन्‍माष्‍टमी का त्‍योहार मनाया जा रहा है। त्‍योहार का नाम सुनते ही दिमाग में सबसे पहले मिठाई का नाम ज़हन में आता है। त्‍योहार पर आपका मन भी गुलाब जामुन और काजू कतली खाने का करता ही होगा। वैसे भी भारत में त्‍योहार मिठाई के बिना अधूरे हैं। इस दौरान मिठाईयों की दुकानों पर तो जैसे मेला सा लग जाता है। होली पर गुजिया की बात हो या ओनम पर पायसम की भारत में हर त्‍योहार के लिए एक अलग मिठाई मौजूद है।

सेहत विशेषज्ञों की मानें तो ढ़ेर सारे त्‍योहार मनाने वाला भारत अब डायबिटीज़ कैपिटल बनाता जा रहा है। यहां पर 62 मिलियन मधुमेह के मरीज़ मौजूद हैं। दुर्भाग्‍यवश भारत में कई डायबिटीज़ के मरीज़ खुद को मिठाईयों और त्‍योहारों से दूर रखते हैं क्‍योंकि ये उनकी सेहत को बिगाड़ सकता है।

अगर आप डायबिटीज़ के मरीज़ हैं तो कुछ बातों का ध्‍यान रखकर आप भी त्‍योहारों पर मीठे का मज़ा ले सकते हैं। डायबिटीज़ का हाने का मतलब ये नहीं है कि आप बिलकुल भी मीठा नहीं खा सकते हैं। खासतौर पर टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीजों को ये खतरा ज्‍यादा होता है।

अगर आप हाइपोग्‍लाइसेमिया और हाइपरग्‍लाइसेमिया की स्थिति से बचकर मिठाई का लुत्‍फ उठाना चाहते हैं तो इन बातों का ध्‍यान जरूर रखें। यकीन मानिये इन आसान टिप्‍स को फॉलो कर आप भी त्‍योहारों का मज़ा ले सकते हैं।

सफाई है जरूरी

festive 2

क्‍या करें : अपने खाने में फाइबर युक्‍त चीज़ें जैसे फल और सब्जियों को शामिल करें। अगर आप कोई मिठाई खाना चाहते हैं तो फ्रूट बेस्‍ड डेज़र्ट जैसे लो कैलोरी योगर्ट के साथ पाइन नट्स से बनी मिठाई खाएं जिसमें एंटीऑक्‍सीडेंट्स और विटामिन सी मौजूद हो।

क्‍या ना करें : लीन मीट और मछली की जगह रेड मीट चुनें और इसे कम तेल और नमक में पकाएं।

अपनी ताकत बढ़ाएं

क्‍या करें : बहुत समझदारी से अपने लिए फूड चुनें और उसकी मात्रा पर भी ध्‍यान दें। अगर डेज़र्ट खानी है तो अपने खाने में से कार्ब की मात्रा को कम कर दें।

क्‍या ना करें : किसी भी चीज़ की अति नुकसानदायक होती है। डायबिटीज़ के मरीज़ों को कभी भी मिठाई ज्‍यादा मात्रा में नहीं खानी चाहिए। किसी खास मौ‍के पर ही मिठाई खाएं तो बेहतर होगा।

डॉक्‍टर की सलाह मानें

क्‍या करें : ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखने के लिए थोड़े-थोड़े समय में थोड़े-बहुत स्‍नैक खाते रहें।

क्‍या ना करें : घर पर मिठाई बनाते समय फुल फैट मिल्‍क और घी का प्रयोग ना करें। साथ ही चीनी की जगह गुड़ और खजूर का इस्‍तेमाल करें। आप शुगर फ्री ग्रैनोला रेसिपी और टेस्‍टी फिरनी को स्क्म्डि मिल्‍क से बना सकते हैं।

स्‍नैक अटैक

festive 3

क्‍या करें : अपने पास नट्स जैसे अखरोट, काजू जरूर रखें लेकिन मूंगफली बिलकुल ना खाएं, ये आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं।

क्‍या ना करें : हाई कैलोरी फूड जैसे डीप फ्राई समोसा, पापड़ और पूड़ी ना खाएं।

एक्टिव रहें

क्‍या करें : त्‍योहार के दिलों में बॉडी को हाइड्रेट और एनर्जी से भरपूर बनाए रखने के लिए ढेर सारा पानी पीएं।

क्‍या ना करें : खाना जरूर खाएं। दिन में थोड़ी-थोड़ी देर में खाना या स्‍नैक लेना बहुत जरूरी होता है। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपका ब्‍लड शुगर लेवल बिगड़ सकता है। त्‍योहार या व्रत के दौरान किसी भी तरह ही नई डाइट ट्राई ना करें।

सेहतमंद चीज़ें चुनें

क्‍या करें : डॉक्‍टर के बताए अनुसार इंसुलिन लेते रहें और नियमित एक्‍सरसाइज़ के रूटीन को ना छोड़ें। त्‍योहारी सीज़न मे तो इस बात का खास ख्‍याल रखें।

क्‍या ना करें : हाई ग्‍लाइसेमिक फूड जैसे आटा, पास्‍ता, चावल, आलू और व्‍हाइट ब्रेड का इस्‍तेमाल ना करें।

पार्टी के लिए क्‍या करें

क्‍या करें : अगर किसी दोस्‍त या रिश्‍तेदार के घर पार्टी करने जा रहे हैं तो अपने घर से लो कार्ब फूड खाकर निकलें और शुगर ड्रिंक या फ्राइड फूड्स ना खाएं।

क्‍या ना करें : अगर आप खुद पार्टी का आयोजन कर रहे हैं तो अपना खाना खुद ही सर्व करें ताकि आप ध्‍यान रख सकें कि आपको कितनी मात्रा में कितना खाया है। अगर आपको लगता है कि ब्‍लड शुगर कंट्रोल में होने पर आप शराब पी सकते हैं तो आप गलत हैं। महिलाएं दिन में 1 ड्रिंक और पुरुष 2 ड्रिंक तक ले सकते हैं।

Read source

Image source

Image source 2

Image source 3

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *