लगातार घंटों तक टीवी देखने से आप हो सकते हें डायबिटीज़ का शिकार

watching-tv

हर किसी को टीवी देखना बहुत पसंद होता है और आमतौर पर आपको भी जब कभी समय मिलता होगा तो आप भी टीवी देखने बैठ जाते होंगें। आपको ये सब मज़ेदार लगता होगा लेकिन सेहत विशेषज्ञों की मानें तो बहुत ज्‍यादा टीवी देखने से सेहत पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है।

शोधकर्ताओं के अनुसार टीवी के आगे हर एक एक्‍स्‍ट्रा घंटा बिताने से 3.4 प्रतिशत तक डायबिटीज़ का खतरा बढ़ जाता है। और अगर आप पूरा दिन टीवी देखते हैं तो ये खतरा 30 प्रतिशत तक बढ़ जाता है।

डायबिटोलोजिआ में प्रकाशित हुई इस स्‍टडी के मुताबिक जो लोग कई घंटे टीवी के सामने बिताते हैं उनमें मधुमेह का खतरा कम समय बिताने वाले लोगों की तुलना में ज्‍यादा रहता है लेकिन से असर उन लोगों में एक्‍सरसाइज़ करने की मात्रा पर भी निर्भर करता है।

अगर आप सप्‍ताह में आधे से लेकर एक घंटे से ज्‍यादा समय तक लगातार टीवी देखते हैं और एक ही दिन में पूरा सीज़न देख लेते हैं तो आपमें इस बीमारी का खतरा बहुत ज्‍यादा रहता है।

क्‍या कहती है स्‍टडी

tv 2

इस स्‍टडी में शोधकर्ताओं ने 3000 ओवरवेट पुरुषों और महिलाओं को शामिल किया था जिनकी उम्र 25 साल से ज्‍यादा थी। इन्‍हें तीन ग्रुपों में विभाजित किया गया था : पहले ग्रुप को सप्‍ताह में 150 मिनट एक्‍सरसाइज़ करने और वजन घटाने के लिए अपनी डाइट में बदलाव के लिए कहा गया। दूसरे ग्रुप को डायबिटीज़ ड्रग मेटफोर्मिन दी गई और तीसरे ग्रुप को प्‍लेसेबो पिल दी गई।

इन तीनों ग्रुपों के लोगों ने एक दिन में 140 मिनट टीवी देखते हुए और 400 मिनट काम करते समय बैठते हुए बिताए। पहले समूह के लोगों ने 37 मिनट के औसत से अपने टेलीविज़न देखने के समय को कम कर दिया  जबकि प्लेसबो और ड्रग्स समूह में केवल 9 मिनट का अंतर आया।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब घंटों तक बैठे रहने की वजह से किसी गंभीर बीमारी के होने का पता चला हो। इससे पहले रेजेंसबर्ग की यूनिवर्सिटी द्वारा करवाए गए एक अध्‍ययन में यह बात सामने आई थी कि कंप्‍यूटर या टीवी के आगे घंटों तक बैठे रहने से कई तरह के कैंसर का खतरा दोगुना हो जाता है।

वहीं अन्‍य शोध की मानें तो घंटों तक बैठे रहने से पोश्‍चर खराब होता है, स्‍पाइन को नुकसान होता है और मेटाबॉलिज्‍म धीमा पड़ सकता है और इसका असर शरीर मे रक्‍त प्रवाह पर भी पड़ता है।

ये बात साबित हो चुकी है कि कई घंटों तक टीवी के आगे बैठे रहने से सेहत को कई तरह के नुकसान होते हैं और इससे बचने के लिए सिर्फ व्‍यायाम ही पर्याप्‍त नहीं है। रोगमुक्‍त रहने के लिए आपको कई और क्रियाएं करने की भी जरूरत होती है।

tv_and_sedentary_pastimes1

टीवी के अलावा ऑफिस में घंटों तक बैठे रहने की वजह से भी डायबिटीज़ का खतरा बढ़ जाता है। देर तक बैठे रहने या आराम करने की वजह से भी डायबिटीज़ का खतरा बढ जाता है। इससे पहले एक स्‍टडी में भी ये बात सामने आ चुकी है कि ऑफिस में देर तक एक ही जगह काम करने की वजह से कर्मचारियों में मधुमेह का खतरा ज्‍यादा पाया गया। ऐसे में ऑफिस में काम करने वाले लोगों को बीच-बीच में जरूर टहलना चाहिए। अगर आप लैपटॉप या कंप्‍यूटर पर बहुत ज्‍यादा काम करते हैं तो डेढ़-डेढ़ घंटे में 5 मिनट के लिए जरूर टहल कर आएं। इससे आंखों को भी आराम मिलता है और दिमाग भी रिफ्रेश हो जाता है।

हाल ही में हुई एक नई स्‍टडी में सामने आया है कि ऑफिस में स्‍ट्रेस की वजह से डायबिटीज़ का खतरा बढ़ जाता है। इस स्‍टडी के मुताबिक जिन लोगों को ऑफिस में बहुत ज्‍यादा स्‍ट्रेस से गुज़रना पड़ता है उनमें ऐसा ना करने वाले लोगों की तुलना में डायबिटीज़ का खतरा ज्‍यादा रहता है।

स्‍ट्रेस की वजह से कई तरह की मानसिक और शारीरिक बीमारियां हो सकती हैं। साथ ही तनाव में व्‍यक्‍ति को ज्‍यादा भूख लगती है और ऐसे में वो ज्‍यादा खाना खाता है और इस वजह से उसका वजन बढ़ जाता है। वजन बढ़ना या ओवरवेट होना भी मधुमेह का प्रमुख कारण है। काम में तनाव के साथ शारीरिक क्रिया ना करना और खराब लाइफस्‍टाइल इस रिस्‍क को और बढ़ा देते हैं। इसलिए जरूरी है कि आप अपनी जीवनशैली को सुधारें और संतुलित वजन रखें और इन बातों का ध्‍यान आपको ऑफिस में स्‍ट्रेस के दौरान भी रखना है।

Read source

Image source

Image source 2

Image source 3

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *