डायबिटीज़ की बीमारी को कंट्रोल करने के लिए इस चीज़ को नाश्‍ते से रखें दूर

dia

डायबिटीज़ की बीमारी में ब्‍लड शुगर का स्‍तर बहुत ज्‍यादा बढ़ जाता है। वहीं उचित खानपान और एक्‍सरसाइज़ से ब्‍लड शुगर के स्‍तर को सामान्‍य रखा जा सकता है। इस बीमारी में आप क्‍या खा रहे हैं, कितना खा रहे हैं, इन सब बातों का ध्‍यान रखना बहुत जरूरी होता है। विशेषज्ञों की मानें तो मधुमेह की बीमारी में आपको एक ब्रेकफास्‍ट आइटम का सेवन करने से बचना चाहिए।

दुनियाभर में टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीज़ों की संख्‍या बहुत तेजी से बढ़ रही है। टाइप 2 डायबिटीज़ में शरीर में रक्‍त शर्करा का स्‍तर बहुत ज्‍यादा बढ़ जाता है और इसे नियंत्रित करना बहुत कठिन होता है। इस अवस्‍था में व्‍यक्‍ति को ज्‍यादा प्‍यास लगने लगती है और बार-बार पेशाब आने लगता है। ऐसे में भूख भी बढ़ जाती है।

टाइप 2 मधुमेह के रोगियों में इंसुलिन तो बनता है लेकिन वो शरीर के लिए पर्याप्‍त नहीं होता है। इंसुलिन की मदद से शरीर की कोशिकाओं तक ग्‍लूकोज़ पहुंच पाता है और जब पर्याप्‍त मात्रा में इंसुलिन नहीं बन पाता तो ग्‍लूकोज़ की आपूर्ति ना हो पाने पर शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है। इसे इंसुलिन प्रतिरोध कहते हैं।

dia 3

दवाओं से इस बीमारी को बढ़ने से रोका जा सकता है लेकिन सामान्‍य जीवनशैली में डाइट और व्‍यायाम से जुड़े कुछ बदलाव करके भी आप अपने ब्‍लड ग्‍लूकोज़ के स्‍तर को कंट्रोल कर सकते हैं।

कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने से ब्‍लड शुगर का लेवल बड़ी तेजी से बढ़ता है इसलिए आपको ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स का इस्‍तेमाल करना चाहिए।

गोंडा डायबिटीज़ सेंटर के एमडी डायरेक्‍टर मैथ्‍यू फ्रीबी का कहना है कि कार्बोहाइड्रेट युक्‍त एक विशेष फूड को अपनी डाइट से निकाल देना चाहिए। मधुमेह से बचाव के बारे में फ्रीबी का कहना है कि ब्रेकफास्‍ट आइटम बैगल को अपने मैन्‍यू से हटा देना चाहिए।

आगे बताते हुए उन्‍होंने कहा कि डायबिटीज़ के मरीज़ों को लगता है कि उनके ब्‍लड शुगर पर सबसे ज्‍यादा असर शुगर का पड़ता है ले‍किन ऐसा नहीं है। इसमें कार्बोहाइड्रेट का असर ज्‍यादा होता है।

किसी भी कार्बोहाइड्रेट युक्‍त चीज़ को लेने से पहले उसके न्‍यूट्रिशियन लेबल को जरूर चैक करें ना कि सिर्फ उसमें शुगर की मात्रा को जांचें।

डोनट्स और बेगल्‍स रिफाइंड और प्रोसेस्‍ड अनाज से बनते हैं जोकि ब्‍लड शुगर को बढ़ाने का प्रमुख कारण है।

संतुलित आहार से मधुमेह को नियंत्रित किया जा सकता है साथ ही इसका बचाव भी यही है।

फल और सब्जियां

fal

मधुमेह के मरीज़ों को रोज़ाना एक फल जरूर खाना चाहिए। ताजे, फ्रोजन और सूखे एवं कैन्‍ड फ्रूट जूस आप ले सकते हैं। केला, सेब और संतरा आपको अपने बच्‍चे के लंच बॉक्‍स में जरूर डालना चाहिए। साथ ही लो फैट योगर्ट से भी आपको फायदा होगा। खजूर और एप्रिकोट भी फायदेमंद होता है।

स्‍टार्च युक्‍त फूड

starch

अपने रोज़ाना के आहार में स्‍टार्च युक्‍त फूड को जरूर शामिल करें। आलू में बहुत फाइबर होता है और इसे आप लो फैट टॉपिंग जैसे कॉटेज चीज़ या बींस के साथ खा सकते हैं। लेकिन आलुओं को फ्राई करके ना खाएं।  

मांस, मछली, अंडा, दालें, बीसं और नट्स

meat

आपको अपने रोज़ाना के आहार में इनमें से किसी एक चीज़ को जरूर शामिल करना चाहिए। कम से कम सप्‍ताह में एक बार तो ऑयली फिश जरूर खाएं। प्रोटीन से मांसपेशियां मजबूत होती हैं और इन खाद्यों में मिनरल्‍स होता है जो कि लाल रक्‍त कोशिकाओं और ह्रदय  को सुरक्षित रखने वाले ओमेगा 3 का उत्‍पादन करता है।

मांस, पेाल्‍ट्री और शाकाहारी खाने की जगह आप ग्रिल्‍ड, रोस्‍टेड और स्टिर फ्राइड या पके हुए अंडे खा सकते हैं। अंडों को उबाल कर भी खाया जा सकता है। मुट्ठीभर सूखे मेवे खाना भी फायदेमंद होता है।

इसके अलावा डायबिटीज़ जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए आपको एंटीऑक्‍सीडेंट युक्‍त डाइट लेनी चाहिए। एंटीऑक्‍सीडेंट युक्‍त फूड्स खाने से टाइप 2 डायबिटीज़ का खतरा कम हो जाता है।

एंटीऑक्‍सीडेंट्स ऐसे रसायन होते हैं जो कोशिकाओं को क्षतिग्रस्‍त होने से रोकते हैं और इनका बचाव करते हैं। इसमें बीटा कैरोटीन, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और सेलेनियम आदि शामिल है। हाल ही में हुई एक रिसर्च में सामने आया है कि डायबिटीज़ की वजह से ना केवल अनेक स्‍वास्‍थ्‍य संबंधित परेशानियां होती हैं बल्कि इससे सामान्‍य लोगों की तुलना में जीवन के 9 साल भी कम हो सकते हैं। डायबिटीज़ की बीमारी की वजह से मरीज़ों की जिदंगी सामान्‍य उम्र से 9 साल कम हो जाती है। इस स्‍टडी में ये चेताया गया है कि ऐसा अपर्याप्‍त ईलाज की वजह से होता है साथ ही ये भी कहा गया कि गांवों में लोग मधुमेह या अन्‍य किसी बीमारी को लेकर ज्‍यादा गंभीरता नहीं दिखाते हैं और इसका असर उनकी आयु और जीवन स्‍तर पर पड़ता है।

Read source

Image source

Image source 2

Image source 3

Image source 4

Image source 5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami