एंटीऑक्‍सीडेंट्स से घट सकता है टाइप 2 डायबिटीज़ का खतरा

antioxidants-diabetes

पिछले साल हुई एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि एंटीऑक्‍सीडेंट युक्‍त फूड्स खाने से टाइप 2 डायबिटीज़ का खतरा कम हो जाता है।

ये प्रभाव फल-सब्जियों, चाय और अन्‍य गर्म पेयों से प्राप्‍त हो पाया है साथ ही इसमें शराब की कुछ मात्रा भी शामिल की जा सकती है।

एंटीऑक्‍सीडेंट्स ऐसे रसायन होते हैं जो कोशिकाओं को क्षतिग्रस्‍त होने से रोकते हैं और इनका बचाव करते हैं। इसमें बीटा कैरोटीन, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और सेलेनियम आदि शामिल है।

क्‍या कहती है रिसर्च

इस रिसर्च के परिणाम डाइबेटोलोजिआ के जर्नल ऑफ यूरोपियन एसोसिएशन में प्रकाशित हुए हैं। इससे पहले हुई रिसर्चों में सिर्फ टाइप 2 डायबिटीज़ पर पोषक तत्‍वों के प्रभाव के बारे में जांच की गई थी। इस रिसर्च में एक व्‍यक्‍ति की डाइट में सभी एंटीऑक्‍सीडेंट के संपूर्ण प्रभाव के बारे में जाना गया।

इसके लिए शोधकर्ताओं ने 1993 से 2008 के बीच 52 उम्र तक की 64,223 महिलाओं की जांच की। इन सभी महिलाओं को शुरुआत में मधुमेह नहीं था। इनसे संक्षेप में डाइट से जुड़े सवाल पूछे गए।

15 साल के दौरान 1751 महिलाएं डायबिटीज़ का शिकार हो गई थीं। इस जानकारी को विभिन्न खाद्य पदार्थों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा के आंकड़ों के साथ जोड़ा गया। प्रत्‍येक प्रतिभागी के लिए ‘टोटल डायटरी एंटीऑक्‍सीडेंट’ का स्‍कोर तैयार किया गया। शोधकर्ताओं ने इस स्‍कोर और डायबिटीज़ के बीच संबंध की बात कही है।

शोध के निष्‍कर्ष

anti 2

शोधकर्ताओं ने पाया कि मध्‍य आयु वर्ग की महिलाओं में एंटीऑक्‍सीडेंट का सेवन ज्‍यादा करने से मधुमेह के खतरे में गिरावट दर्ज हुई। इन महिलाओं ने एक दिन में 15 एमएम एंटीऑक्‍सीडेंट का सेवन किया था।

जिन महिलाओं का सबसे ज्‍यादा एंटीऑक्‍सीडेंट स्‍कोर था उनमें कम स्‍कोर महिलाओं की तुलना में डायबिटीज़ का खतरा 27 प्रतिशत कम पाया गया।

धूम्रपान और बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) सहित टाइप 2 डायबिटीज़ के लिए अन्य प्रमुख कारणों पर ध्‍यान देने के बाद  एंटीऑक्सीडेंट में संतुलित आहार और टाइप 2 मधुमेह के खतरे के बीच संबंध बताया गया।

फल-सब्जियों, चाय, रेड वाइन में सबसे ज्‍यादा मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट की मात्रा पाई गई। इस अध्‍ययन में कॉफी को शामिल नहीं किया गया था क्‍योंकि कॉफी में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट्स से टाइप 2 डायबिटीज़ के खतरे से संबंध के बारे में पहले ही बताया जा चुका था।

इस रिसर्च की मानें तो एंटीऑक्‍सीडेंट युक्‍त फूड जैसे ताजे फल और सब्जियों से टाइप 2 डायबिटीज़ के खतरे में कमी आती है। ताजे फल और सब्जियों के अलावा अन्‍य खाद्यों जैसे साबुत अनाज, नट्स, बीज, दालें और खमीरयुक्‍त फूड्स जैसे योगर्ट आदि भी मधुमेह से बचाव में मदद करते हैं। इसके अलावा ऐसे भी कुछ फूड्स हैं जिनका सेवन हमें कम करना चाहिए। इसमें रेड और प्रोसेस्‍ड मीट और शुगरयुक्‍त ड्रिंक्‍स शामिल हैं।

टाइप 2 डायबिटीज़ से बचने का सबसे असरदार और बेहतरीन तरीका है कि आप संतुलित आहार और नियमित व्‍यायाम से अपने वजन को संतुलित रखें।

आपको बता दें कि हाल ही में हुई एक रिसर्च में सामने आया है कि डायबिटीज़ की वजह से ना केवल अनेक स्‍वास्‍थ्‍य संबंधित परेशानियां होती हैं बल्कि इससे सामान्‍य लोगों की तुलना में जीवन के 9 साल भी कम हो सकते हैं। डायबिटीज़ की बीमारी की वजह से मरीज़ों की जिदंगी सामान्‍य उम्र से 9 साल कम हो जाती है। इस स्‍टडी में ये चेताया गया है कि ऐसा अपर्याप्‍त ईलाज की वजह से होता है साथ ही ये भी कहा गया कि गांवों में लोग मधुमेह या अन्‍य किसी बीमारी को लेकर ज्‍यादा गंभीरता नहीं दिखाते हैं और इसका असर उनकी आयु और जीवन स्‍तर पर पड़ता है।

मधुमेह से बचने के लिए आपको अपनी डाइट में एंटीऑक्‍सीडेंट्स को शामिल करना चाहिए और हाई शुगर वाली चीज़ों से दूर रहना चाहिए।

अपनी डाइट में इन बातों का ध्‍यान रखें

anti 3

  • कैचअप का इस्‍तेमाल करते समय ध्‍यान रखें कि आपको इसका सीमित मात्रा में ही सेवन करना है। एक टेबलस्‍पून कैचअप में 1 टीस्‍पून शुगर होता है।
  • दूध में भी थोड़ी मात्रा में शुगर होती है और चॉकलेट मिल्‍क में इसकी मात्रा सामान्‍य ये ज्‍यादा बढ़ जाती है।
  • ग्रैनोला को लो फैट फूड के रूप में जाना जाता है और इसमें कैलोरी के साथ-साथ शुगर भी बहुत ज्‍यादा होती है। 100 ग्राम ग्रैनोला में लगभग 400 कैलोरी और 6 टीस्‍पून शुगर होती है।

इसकी थोड़ी मात्रा तो ठीक रहती है लेकिन रोज़ इसका ज्‍यादा इस्‍तेमाल करने से कोई गंभीर बीमारी होने का खतरा रहता है। शुगर को अपने खाने से बिलकुल दूर करने का सबसे अच तरीका है कि आप घर पर ही अपनी मनपसंद चीज़ों को बनाएं ताकि आपको उनमें शुगर की मात्रा की पूरी जानकारी रहे।

Read source

Image source

Image source 2

Image source 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami