क्‍या डायबिटीज़ के मरीज़ कटहल ( जैकफ्रूट ) खा सकते हैं ?

कटहल के दो रूप होते हैं – एक कच्‍चा और दूसरा इसका पका हुआ रूप होता है। हाई ब्‍लड शुगर की बीमारी आप बिना किसी हिचक के कच्‍चा कटहल खा सकते हैं। डायबिटीज़ के मरीज़ों को कटहल खाने से नुकसान नहीं बल्कि फायदा मिलता है।

मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद है कच्‍चा कटहल

कच्‍ची कटहल खाने से सेहत को कई तरह के फायदे मिलते हैं और इसे मधुमेह के रोगियों को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। आइए जानते हैं कटहल क्‍या–क्‍या फायदे देती है।

वजन करे कम

देखा गया है कि एक कप कटहल में दो चपाती और एक कप चावल की तुलना में कम कैलोरी होती है। इसमें फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है और पानी की भी प्रचुरता पाई जाती है। एक कप कटहल खाने से आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगेगी और इस तरह आप वजन भी कम कर पाएंगें।

jackfruit 2

डायबिटीज़ करे कंट्रोल

कच्‍चा कटहल खाना डायबिटीज़ की बीमारी का बेहतरीन ईलाज है। सिडनी यूनिवर्सिटी ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स रिसर्च सर्विस की मेडिकल रिसर्च में ये बात सामने आई है कि कच्‍ची कटहल में चावल और गेहूं की तुलना में लो ग्‍लाइसेमिक होता है। तो अगर आप चावल और चपाती की जगह कच्‍ची कटहल का सेवन करेंगें तो इससे आपके रक्‍त में शुगर का लेवल नहीं बढ़ेगा।

कोलेस्‍ट्रॉल करे कम

कच्‍चे कटहल में घुलनशील फाइबर की मात्रा सबसे ज्‍यादा होता है। आमतौर पर फलों में मौजूद घुलनशील फाइबर से कोलेस्‍ट्रॉल से लड़ने में मदद मिलती है। ये शरीर से बैड कोलेस्‍ट्रॉल को हटाता है। इसके साथ ही ये शरीर को कोलेस्‍ट्रॉल मुक्‍त रखता है और इससे होने वाली मुश्किलों से भी बचाता है।

कोलोन कैंसर से बचाव

अगर आप कोलोन कैंसर से लड़ने के लिए किसी प्राकृतिक नुस्‍खे का प्रयोग करना चाहते हैं तो इसके लिए कटहल सबसे उत्तम फल है। कटहल में मौजूद घुलनशील फाइबर्स से शरीर से मल आसानी से निकल जाता है और इस तरह कोलोन कैंसर से बचाव हो पाता है।

आंखों की रोशनी करे तेज

डायबिटीज़ का असर आंखों पर भी पड़ता है। इस बीमारी की वजह से आंखें कमज़ोर हो जाती है। ब्‍लड शुगर बढ़ने की वजह से आंखों से धुंधला दिखाई देने लगता है। कटहल में बीटा कैरोटीन, विटामिन ए, ल्‍यूटिन और जिआजेंथिन होता है जोकि प्राकृतिक रूप से आंखों की रोशनी बढ़ाने का काम करता है।

jackfruit 3

कटहल से जुड़ी अन्‍य जानकारी

कच्‍ची कटहल को सुपरफूड भी कहा जा सकता है क्‍योंकि ये हाई ब्‍लड शुगर पर भी अपना असर दिखाता है।

  • इसमें लो जीएल होता है।
  • चीनी की मात्रा भी कम होती है। इसमें केवल 20 प्रतिशत चीनी होती है।
  • कटहल के कच्‍चे रूप में घुलनशील फाइबल की मात्रा ज्‍यादा होती है।

कटहल एंटीऑक्‍सीडेंट विटामिन सी का बेहतर स्रोत माना जाता है और इससे 13.7 मिलीग्राम और 23 प्रतिशत आरडीए मिलता है। विटामिन सी युक्‍त फूड्स खाने से संक्रमण फैलाने वाले एजेंट्स से सुरक्षा मिलती है और नुकसानदायक फ्री रेडिकल्‍स भी दूर रहते हैं।

अगर आपको हाई ब्‍लड शुगर की समस्‍या रहती है तो भी आप कटहल का कच्‍चे रूप में सेवन कर सकते हैं। अकसर मधुमेह के रोगियों को चिंता रहती है कि उन्‍हें अपनी डाइट में क्‍या और कितनी मात्रा में शामिल करना है। इस बीमारी में डाइट इतनी ज्‍यादा सख्‍त होती है कि कभी-कभी मरीज़ डिप्रेशन तक में चला जाता है।

वैसे तो कटहल मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद होती है लेकिन फिर भी इसे अपनी डाइट में शामिल करने से पहले एक बार अपने डॉक्‍टर्स से इसके बारे में सलाह जरूर लें। ऐसा जरूरी नहीं है कि जो दूसरों को सूट किया आपको भी फायदा ही देगा। हो सकता है कि आपकी स्थिति थोड़ी अलग हो और आपको कटहल खाने से फायदे की जगह नुकसान हो जाए। इसलिए किसी भी तरह की इमेरजेंसी से बचने के लिए आपको अपने डॉक्‍टर से परामर्श जरूर कर लेना चाहिए।

Read source

Image source

Image source 2

Image source 3

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *