डायबिटीज़ से बचने के लिए ब्‍लड शुगर लेवल को नॉर्मल रखना जरूरी, अपनाएं ये तरीके

sugar

image source

जब रक्‍त से कोशिकाओं में शुगर नहीं पहुंच पाता है तो हाई ब्‍लड शुगर की स्थिति उत्‍पन्‍न हो जाती है। अगर इस बात पर ध्‍यान नहीं दिया जाए तो ये डायबिटीज़ का रूप ले लेती है।

साल 2012 में हुई एक स्‍टडी की रिपोर्ट के अनुसार यूएस में 12 से 14 प्रतिशत युवा टाइप 2 डायबिटीज़ से ग्रस्‍त हैं जबकि 37-38 प्रतिशत प्री डायबीटिक हैं।

इसका मतलब है कि यूएस की 50 प्रतिशत की आबादी डायबिटीज़ और प्री डायबिटीज़ से ग्रस्‍त है।

चलिए जानते हैं ब्‍लड शुगर के स्‍तर को कम करने के तरीकों के बारे में :

image source 22

  • नियमित व्‍यायाम से वजन को कम और इंसुलिन की संवेदनशीलता को बढ़ाया जा सकता है। इंसुलिन की संवेदनशीलता बढ़ने से कोशिकाएं बेहतर तरीके से रक्‍त वाहिकाओं में शुगर का स्‍त्राव कर पाती हैं। व्‍यायाम से मांसपेशियां ऊर्जा में ब्‍लड शुगर का इस्‍तेमाल कर पाती हैं। वेट लिफ्टिंग, ब्रिस्‍क वॉकिंग, दौड़ना, बाइकिंग, डांसिंग, हाइकिंग और तैराकी आदि कर सकते हैं।
  • शरीर कार्बोहाइड्रेट को शुगर में बदल देता है और फिर इंसुलिन शुगर को कोशिकाओं में भेजता है। अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने से इंसुलिन के कार्य में बाधा आ सकती है और इससे ब्‍लड ग्‍लूकोज़ का स्‍तर बढ़ सकता है। अपने खाने में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा का ध्‍यान रखें। लो कार्ब डाइट से ब्‍लड शुगर के स्‍तर को कम रखा जा सकता है।
  • पर्याप्‍त पानी पीने से हर बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है। पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीने से ब्‍लड शुगर का स्‍तर सामान्‍य रहता है। अधिक मात्रा में पानी पीने से किडनी से यूरिन के रास्‍ते अधिक ब्‍लड शुगर शरीर से बाहर निकल जाता है। रोज़ पानी पीने से रक्‍त री-हाइड्रेट रहता है और ब्‍लड शुगर का स्‍तर कम हो जाता है जिससे डायबिटीज़ का खतरा नहीं रहता।
  • तनाव की वजह से ब्‍लड शुगर का स्‍तर प्रभावित हो सकता है। तनाव के दौरान हार्मोंस जैसे कि ग्‍लूकागन और कोर्टिसोल स्रावित होते हैं। इन हार्मोंस की वजह से ब्‍लड शुगर का स्‍तर बढ़ जाता है। व्‍यायाम और मेडिटेशन करने से तनाव और ब्‍लड शुगर के स्‍तर में कमी आती है।
  • पर्याप्‍त नींद लेने से सेहत दुरुस्‍त रहती है। अनिद्रा और नींद की कमी की वजह से ब्‍लड शुगर का स्‍तर और इंसुलिन की संवेदनशीलता प्रभावित होती है। इससे वजन भी बढ़ सकता है और पाचन तंत्र के खराब होने का भी खतरा रहता है। नींद की कमी की वजह से कोर्टिसोल नामक हार्मोन और ग्रोथ हार्मोन बढ़ने लगता है। ये दोनों ही हार्मोन ब्‍लड शुगर के स्‍तर को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाते हैं। सही मात्रा में और बेहतर नींद लेने से ब्‍लड शुगर का स्‍तर सामान्‍य रहता है।

original link

15 Easy Ways to Lower Blood Sugar Levels Naturally

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *