टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीजों में मस्तिष्‍क में रक्‍त संचार बढ़ाने के लिए डाइट और व्‍यायाम है अच्‍छा विकल्‍प

type

image source

हाल ही में हुई एक रिसर्च के आधार शोधकर्ताओं का कहना है कि स्‍वस्‍थ आहार और नियमित व्‍यायाम टाइप 2 मधुमेह के मरीज़ों में मस्तिष्क को खराब रक्त परिसंचरण को रोकने में मदद कर सकता है।

इस अध्‍ययन में ओवरवेट लोंगों के मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को बढ़ाने या बनाए रखने में मदद  की गई।

टाइप 2 डायबिटीज़ में मस्तिष्‍क तक रक्‍त का संचार ठीक तरह से नहीं हो पाता है जिसकी वजह से रक्‍त वाहिकाएं सख्‍त हो जाती हैं और शरीर में ऑक्‍सीजन का स्‍तर कम होने लगता है। इसका असर मरीज़ की बौद्धिक क्षमता पर पड़ता है जैसे कि मरीज़ को निर्णय लेने में परेशानी आती है।

एक्‍शन फॉर हैल्‍थ इन डायबिटीज़ के आंकड़ों का इस्‍तेमाल करते हुए शोधकर्ताओं ने पता लगाया कि लो कैलोरी डाइट और शारीरिक व्‍यायाम करने से मस्‍तिष्‍क पर सकारात्‍मक असर पड़ता है या नहीं। 10 साल तक चले इस अध्‍ययन में 45 से 76 साल की उम्र के बीच के ओवरवेट और मोटापेग्रस्‍त लोगों को शामिल किया गया। ये सभी प्रतिभागी टाइप 2 डायबिटीज़ से पीडित थे।

ट्रायल के दौरान प्रतिभागियों को दो समूह में बांटा गया था। एक ग्रुप के लोगों को वजन कम करने के लिए 1200 से 1800 कैलोरी लेने और सप्‍ताह में कम से कम 175 मिनट व्‍यायाम करने को कहा गया।

वहीं दूसरे समूह को डायबिटीज़ सपोर्ट और एजुकेशन क्‍लासेस दी गईं। दोनों ही समूह के लोगों का नियमित रिकॉर्ड रखा गया।

दस साल के बाद प्रतिभागियों के मस्तिष्‍क का एमआरआई स्‍कैन करवाया गया जिसमें उनके मानसिक कार्यों की जांच की गई। इनमें प्रतिभागियों की मौखिक शिक्षा, याद्दाश्‍त, निर्णय लेने की क्षमता और बौद्धिक कार्य पर भी ध्‍यान दिया गया।

स्‍कैन करवाने वाले 97 प्रतिशत लोग परीक्षण के लिए निर्धारित गुणवत्ता नियंत्रण मानकों पर खरे उतरे।

अध्‍ययन के दौरान शोधकर्ताओं ने बताया कि जिस समूह के लोगों को नियमित व्‍यायाम और डाइट लेने के लिए कहा गया था उनके मस्तिष्‍क में बेहतर रक्‍त संचार पाया गया। इसका असर मोटापाग्रस्‍त लोगों की तुलना में ओवरवेट लोगों में ज्‍यादा पाया गया।

इस शोध से पता चलता है कि नियमित व्‍यायाम और संतुलित आहार से किसी भी बीमारी को नियंत्रित या खत्‍म किया जा सकता है। अगर आपको भी टाइप 2 डायबिटीज़ है तो आप भी आज से ही नियमित व्‍यायाम और लो कैलोरी डाइट लेना शुरु कर दें। इन दो चीज़ों से टाइप 2 डायबिटीज़ से निपटा जा सकता है।

इस अध्‍ययन की रिपोर्ट अमेरिकन जेरिएट्रिक्‍स सोसायटी के जरनल में प्रकाशित की गई है।

Original link :

Diet and exercise could increase brain blood flow in type 2 diabetes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami