डायबिटीज़ के मरीज़ भी ऐसे खा सकते हैं संतरे

orange

डायबिटीज़ के मरीज़ अपने संतुलित आहार में संतरे को भी शामिल कर सकते हैं। अमेरिकन डायबिटीज़ एसोसिएशन के अनुसार अन्‍य खाद्य पदार्थों की तुलना में फलों का सेवन ज्‍यादा फायदेमंद रहता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि फलों में फाइबर उच्‍च मात्रा में होता है और साथ ही इसमें ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स भी लो होता है। संतरे में कई पोषक तत्‍व होते हैं और इसी वजह से एसोसिएशन ने मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद सुपरफूड्स की लिस्‍ट में शीर्ष 10 में संतरे को भी रखा है।

संतरे में कुछ ऐसे पोषक तत्‍व होते हैं जोकि मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। आइए जानते हैं संतरे में मौजूद इन पोषक तत्‍वों के बारे में..

एंटीऑक्‍सीडेंट्स

संतरे में एंटीऑक्‍सीडेंट्स जैसे विटामिन ए, सी, ई, ल्‍यूटिन और बीटा कैराटिन उच्‍चा मात्रा में मौजूद होता है। ये एंटीऑक्‍सीडेंट्स डायबिटीज़ के मरीज़ों की स्थिति और गंभीर होने से बचाने में मदद करते हैं। डायबिटीज़ के मरीज़ स्‍ट्रोक, ह्रदय रोग और कुछ तरह के कैंसर के खतरे में रहते हैं। इसी वजह से डायबिटीक मरीज़ों के शरीर में रसायनिक क्षति को ऑक्‍सीडेटिव स्‍ट्रेस कहा जाता है। एंटीऑक्‍सीडेंट इस ऑक्‍सीडेटिव स्‍ट्रेस की प्रक्रिया को उल्‍टा कर देते हैं।

orange 2

फाइबर

इससे ब्‍लड शुगर लेवल के बढ़ने का खतरा रहता है लेकिन वहीं संतरों में फाइबर उच्‍च मात्रा में मौजूद होता है जो कि पेट और छोटी आंत में शुगर के अवशोषण को धीमा कर देता है। इसके अलावा डायबिटीज़ के मरीज़ों में संतरे से ब्‍लड कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को भी नियंत्रित किया जा सकता है। ब्‍लड कोलेस्‍ट्रॉल को कंट्रोल करना इसलिए भी जरूरी है क्‍योंकि ये मधुमेह के मरीज़ों में ह्रदय रोगों का कारण बन सकता है। इसलिए डायबिटीज़ के मरीज़ों को फाइबर की आपूर्ति के लिए फलों के रस की जगह फलों का सेवन करना चाहिए।

अन्‍य पोषक तत्‍व

संतरे में पोटाशियम, कैल्‍शियम और मैग्‍नीशियम होता है। ये शरीर के कई कार्यों जैसे मांसपेशियों की क्रिया, किडनी में पानी का संतुलन, हड्डियों को मजबूती और शरीर के उत्तकों की क्रिया में अहम योगदान देते हैं।

डायबिटीज़ मरीज़ों के लिए संतरे की सही मात्रा

orange 3

डायबिटीज़ के मरीज़ों को कैलोरी का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। संतरे खाने से पहले उन्‍हें उसमें मौजूद कैलोरी की मात्रा के बारे में जान लेना चाहिए। अगर आप अपनी रोज़ाना कैलोरी लिमिट को 1600 तक रखना चाहते हैं तो आपको 2 संतरे खाने चाहिए। 2000 कैलोरी के लिए आप रोज़ 3 संतरे खा सकते हैं लेकिन इससे ज्‍यादा ना खाएं। वहीं अगर 2000 से 2400 के बीच कैलोरी लेना चाहते हैं तो आप रोज़ चार संतरे खा सकते हैं। खुद अपने लिए कैलोरी की मात्रा निर्धारित करने की बजाय इस बारे में अपने डॉक्‍टर से बात करें।

डायबिटीज़ के मरीज़ों को कैलोरी के सेवन को लेकर बहुत सावधान रहना चाहिए। ये आपके शारीरिक व्‍यायाम, लिंग, आकार और वजन घटाने के स्‍तर पर भी निर्भर करता है। अगर आप अपने आहार को संतुलित रखें तो मधुमेह होने के बावजूद भी आप संतरा खा सकते हैं।

टाइप 2 डायबिटीज़

टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीज़ों को ऐसे खाद्य चुनने चाहिए जो उनके ब्‍लड शुगर के स्‍तर को कंट्रोल कर सकें और उन्‍हें इस बीमारी से जुड़ी मुश्किलों से बचा सके। आपकी रोज़ाना की विटामिन सी की जरूरत एक सामान्‍य संतरे से एक तिहाई पूरी हो पाती है। वहीं इससे अन्‍य पोषक तत्‍व और एंटीऑक्‍सीडेंट्स भी मिलते हैं। टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीज़ ताजे संतरो का सीमित मात्रा में सेवन कर सकते हैं लेकिन उन्‍हें संतरे के रस को अपनी डाइट में शामिल नहीं करना चाहिए।

ताजे संतरे

orange 4

एक सामान्‍य संतरे में 15 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है जबकि एक बड़े संतरे में इसकी मात्रा दोगुनी हो सकती है। अपने ब्‍लड शुगर लेवल और डायबिटीज़ को कंट्रोल करने के लिए छोटे संतरों का सेवन करें। जैसे कि अगर आप आकार में छोटा संतरा लेते हैं तो इससे आपको 15 ग्राम कार्बोहाइड्रेट मिलेगा और योगर्ट, नट्स और थोड़ी मात्रा में ग्रैनोला के साथ लेने पर 45 ग्राम कार्बोहाइड्रेट मिलेगा जोकि टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए सही है।

ब्‍लड शुगर करें चैक

संतरा खाने से पहले अपना ब्‍लड शुगर चैक करें और फिर दो घंटे बाद भी चैक करें। आपका ब्‍लड शुगर लेवल 180 एमजी/डीएल से ऊपर नहीं होना चाहिए। अगर ये इससे ज्‍यादा होता है तो अपने खाने में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम कर दें।

इसके अलावा संतरा ह्रदय रोगों से भी बचाता है। अगर आप मधुमेह या ह्रदय रोगों से बचना चाहते हैं तो अपनी डाइट में संतरे को जरूर शामिल करें। सिट्रस परिवार का ये फल सेहत और त्‍वचा दोनों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। आप आज से ही इसे अपने आहार में शामिल करें।

Read source

Image source

Image source 2

Image source 3

Image source 4

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *