इस सूखे मेवे को अपनी डाइट में शामिल कर टाइप 2 डायबिटीज़ की गंभीरता से बचा जा सकता है

Fun-Facts-of-Almonds-2

image source

दुनियाभर में डायबिटीज़ के मरीज़ों की संख्‍या 415 बिलियन तक पहुंच चुकी है और सिर्फ यूके में ही ये आंकड़ा 4.5 मिलियन है।

इसके लक्षणों में प्‍यास लगना, थकान महसूस होना, बार-बार पेशाब आना और आंखों से कम दिखाई देना शामिल हैं।

हालांकि, एक लोकप्रिय स्‍नैक को अपनी डाइट में शामिल कर आप इस रोग को गंभीर होने से बचा सकते हैं।

हाल ही में एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि बादाम खाने से टाइप 2 डायबिटीज़ के लोगों को मदद मिलती है। रिसर्च में शामिल 90 प्रतिशत मधुमेह के मरीज़ों को इससे फायदा हुआ है।

इससे पहले की रिसर्च में बादाम हाई ब्‍लड प्रेशर को कम करने और डिमेंशिया से बचाव में भी मददगार बताया गया है।

इस साल प्रकाशित हुई एक स्‍टडी में सामने आया है कि बढ़े हुए कोलेस्‍ट्रॉल वाले टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीज़ों में अधिक बादाम खाने परे ह्रदय की सेहत में सुधार हुआ।

शोधकर्ताओं ने पाया कि जब पीड़ितों ने प्रतिस्थापन किया तो उनकी कैलोरी में 20 प्रतिशत कच्चे बादाम शामिल करने से उनके दिल की सेहत में सुधार हुआ।

529493425

image source 2

मधुमेह रोगियों में ह्रदय रोगों का खतरा ज्‍यादा होता है। ब्‍लड शुगर के स्‍तर को सामान्‍य रखकर दिल की सेहत को दुरुस्‍त रखा जा सकता है।

इसके अलावा इसी साल प्रकाशित हुई अन्‍य स्‍टडी में भी इस बात का खुलासा हुआ है कि डाइट में 60 ग्राम बादाम शामिल करने से टाइप 2 डायबिटीज़ के मरीजों को फायदा हुआ है।

शोध में पाया गया कि बादाम खाने से सीरम ग्‍लूकोज़ का स्‍तर कम हो गया – जिसके बाद ब्‍लड शुगर 6 प्रतिशत की तेजी से बढ़ा।

इससे हीमोग्‍लोबिन ए1सी में भी कमी आई। इस शोध के नतीजों के अनुसार स्‍वस्‍थ संतुलित आहार में बादाम को शामिल करने से लंबे समय तक ब्‍लड शुगर के स्‍तर में सुधार आता है।

मधुमेह रोगियों के अलावा बादाम का सेवन करने से सेहत को और भी कई फायदे मिलते हैं। ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स मौजूद होने से इससे वजन कम होता है और शरीर में प्रोटीन की मात्रा बढ़ती है।

इसके अलावा बादाम में भरपूर मात्रा में फाइबर और गुड डायटरी फैट होते हैं। इसमें पोषक तत्‍व जैसे कि विटामिन ई, मैग्‍नीशियम और पोटाशियम होता है।

मधुमेह रोगियों के अलावा भी बादाम सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाता है। पोषक तत्‍वों से भरपूर होने के कारण कोई भी बिना किसी हिचकिचाहट के बादाम को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। अब बिना कोई देर किए अपनी डाइट में बादाम को शामिल कर लें।

original link

Snacking could REDUCE severity of symptoms

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *